Beh Chala Lyrics Hindi and English – Uri: The Surgical Strike | Yasser Desai

60

Beh Chala Lyrics Description:

Beh Chala lyrics is from the movie Uri: The Surgical Strike.
Singers of this song are Yasser Desai, Shashwat Sachdev.
Shashwat Sachdev composed this song.
Kumaar is the lyricists of this song.
The song Beh Chala Released on 4 January 2019.
Genre and label are respectively “Feature Film Soundtrack” and “Zee Music Company“.

SONG CREDITS:

Movie: “Uri: The Surgical Strike”
Song: “Beh Chala”
Singer: “Yasser Desai, Shashwat Sachdev”
Composition: “Shashwat Sachdev”
Lyrics: “Raj Shekhar”
Genre: “Feature Film Soundtrack”
Label: “Zee Music Company”

Beh Chala Uri lyrics in English:

Zindagi haan thode thode faasle the
Kuchh tere, kuchh mere kyun darmiyan
Zindagi haan thi jo shikayaton ko
Kuchh toone, kuchh maine suljha liya x (2)

Tere ishaaron pe main chalta raha
Mere ishaaron pe tu bhi chal kabhi x (2)

Beh chala, beh chala
Musafir kahan beh chala
Beh chala, beh chala x (2)

Aadhe aadhe yahin
Aadhe aur kahin

Zindagi haan toote toote tinkon ko
Chun lein hum, bun lein hum ik ashiyaan
Zindagi haan chhote chhote par leke
Chal dekhein jayein kahan aasman

Katra katra main tujhe chunta raha
Kaatra katra phir tu bhi bikhar gayi
Katra katra main tujhe chunta raha
Katra katra tu bhi bikhar gayi

Bah chala, bah chala
Musafir kahan bah chala
Bah chala, bah chala x (2)

Hain hum mile sau sau dafa
Phir bhi kyun tu mile ajnabi ki tarah
Hai manzilein sab kahin yahan
Phir bhi raaston mein
Raaste ulajh rahe yahan

Kitna bhi main chaloon teri ore
Hoti kam hi nahi kyun kabhi dooriyan

Tere ishaaron pe main chalta raha
Mere ishaaron pe tu bhi chal kabhi x (2)

Bah chala, bah chala
Musafir kahan beh chala
Bah chala, beh chala x (2)

Aadhe aadhe yahin
Aadhe aur kahin x (2)

Zindagi haan…

Beh Chala Uri Lyrics in Hindi:

ज़िंदगी हाँ
थोड़े थोड़े फ़ासले थे
कुछ तेरे, कुछ मेरे क्यूँ दरमियाँ
ज़िंदगी हाँ
थी जो शिकायतों को
कुछ तूने, कुछ मैंने सुलझा लिया
ज़िंदगी हाँ
थोड़े थोड़े फ़ासले थे
कुछ तेरे कुछ मेरे क्यूँ दरमियाँ
ज़िंदगी हाँ
थी जो शिकायतों को
कुछ तूने कुछ मैंने सुलझा लिया

तेरे इशारों पे मैं चलता रहा
मेरे इशारों पे तू भी चल कभी
तेरे इशारों पे मैं चलता रहा
मेरे इशारों पे तू चल कभी

बह चला बह चला
मुसाफ़िरे कहाँ बह चला
बह चला बह चला
बह चला बह चला
मुसाफ़िरे कहाँ बह चला
बह चला बह चला

आधे आधे यहीं
आधे और कहीं

ज़िंदगी हाँ
टूटे टूटे तीनकों को
चुन लें हम बून लें हम इक आशियाँ
ज़िंदगी हाँ
छोटे छोटे पर लेकर
चल देखें जाएँ कहाँ आसमान

क़तरा क़तरा मैं तुझे चुनता रहा
क़तरा क़तरा फिर तू भी बिखर गयी
क़तरा क़तरा मैं तुझे चुनता रहा
क़तरा क़तरा तू बिखर गयी

बह चला बह चला
मुसाफ़िरे कहाँ बह चला
बह चला बह चला
बह चला बह चला
मुसाफ़िरे कहाँ बह चला
बह चला बह चला

वो..

हैं हम मिले सौ सौ दफ़ा
फिर भी क्यूँ तू मिले अजनबी की तरह
है मंज़िलें सब कहीं यहाँ
फिर भी रास्तों में रास्ते उलझ रहे यहाँ

कितना भी मैं चलूँ तेरी ओर
होती कम ही नहीं क्यूँ कभी दूरियाँ

तेरे इशारों पे मैं चलता रहा
मेरे इशारों पे तू भी चल कभी
तेरे इशारों पे मैं चलता रहा
मेरे इशारों पे तू चल कभी

बह चला बह चला
मुसाफ़िरे कहाँ बह चला
बह चला बह चला
बह चला बह चला
मुसाफ़िरे कहाँ बह चला
बह चला बह चला

आधे आधे यहीं
आधे और कहीं

ज़िंदगी हाँ..

Leave a Comment